भक्तो के अनुभव – सतीश जी (भाग 2)


Devotee Experience – Satish (Part 2) से अनुवाद

मैंने पहले ही पिछले पोस्ट में संकेत दिया था कि मैं साई भक्त सतीश जी के एक और अनुभव को साझा करुगी, लेकिन अब वह अनुभव बाद में पोस्ट करुगी क्यूंकि कल (31 जुलाई, 2008, गुरुवार) सतीश जी ने बोहत ही दिल को छु लेने वाला अनुभव किया या आप ये भी कह सकते हो की उन्हें शिरडी साईं बाबा के साक्षात् दर्शन हुए जब वो साईं व्रत को समाप्त करके कुछ काम के लिए घर से निकले थे। उन्होंने मुझे अपना अनुभव कल ही भेजा था, जो कि मैं आप सभी के लिए पोस्ट कर रही हूं क्योंकि यह सबसे हाल ही में का अनुभव है।

हाय हेतल,

प्लीज इस चमत्कार को देखो जो अज मेरे साईं व्रत करने के बाद हुआ। जैसे की आज गुरूवार है और मैंने अपना साईं व्रत का पहला सप्ताह शुरू किया हैं। मैंने बाबा की पूजा की, पूजा करने के बाद मैं बैंक जा रहा था क्योंकि मुझे कुछ काम था। जब मैं बैंक जा रहा था, एक बूढ़ा व्यक्ति जो बाबा की तरह दिख रहा था उन्होंने मुझसे लिफ्ट मांगी । सबसे पहले तो मैं संकोच कर रहा था और थोड़ा आगे बढ़ने के बाद फिर उस बूढ़े व्यक्ति को लिफ्ट देने का फैसला किया और मैं रुक गया। बाबा मेरे पास दौड़कर आए और मुझसे कहा, “भगवान आप को आशीर्वाद दे बेटा, आप हमेशा खुश रहेंगे, भगवान अवश्य तुम्हारी बात सुनेंगे, आप घर, संपत्ति सब कुछ प्राप्त करेंगे और उन्होंने कहा कि भगवान हमेशा मुझे आशीर्वाद देंगे “।

मैं बहुत खुश था कि बाबा इस तरह मेरे पास आए और मैं आभारी हूं कि मैं बाबा को देख पाया। वह बाबा की तरह पजामा पहने हुए थे और काफी वृद्ध थे। उनकी पोशाक साफ नहीं थी और वह बाबा जैसे दीखते थे। वह मेरे साथ बहुत अच्छी अंग्रेजी बोल रहे थे। मैं हैरान था क्योंकि वह एक गरीब और वृद्ध व्यक्ति थे, पर अंग्रेजी बोहत अच्छी बोल रहे थे। मैंने उन्हें छोड़ दिया जहां उन्होंने मुझे छोडने के लिए कहा था, नीचे उतरने के बाद उन्होंने मुझे फिर से आशीर्वाद दिया। मैं बहुत खुश था और इस ब्लॉग में मैंने इस अनुभव को लिखने का फैसला किया। कृपया इसे अपने ब्लॉग में प्रकाशित अवश्य करें।

तुम्हारा भाई,

सतीश

© Sai Teri LeelaMember of SaiYugNetwork.com

Share your love

Leave a Reply