अनाम साईं भक्त: बाबा ने मंदी के दौर में नौकरी पाने में मदद की

नाम साईं भक्त कहती है: हेलो हेतलजी, मैं यूएसए में रहती हूँ। मेरी आपसे विनती है कि मेरा अनुभव अपने ब्लॉग में डालें। आपकी इस सेवा के लिए बहुत बहुत धन्यवाद। इन सभी सेवाओं के लिए बाबा आपको आशीष दें।
ओम साईं राम!!!

बाबा की कृपा से मैं अपना अनुभव आपके ब्लॉग में डाल रही हूँ। साईं बाबा की दया से मेरे पति को कुछ सप्ताह पहले नौकरी मिली। यूएसए में आर्थिक मंदी के कारण मेरे पति को कंपनी से निकाल दिया गया था और बाबा के आशीर्वाद से उसी कंपनी से उन्हें फिर बुलावा आया।

उन्हें कांट्रेक्ट के पद पर लिया गया था। उन्होंने कांट्रेक्टर के तौर पर 8 माह काम किया और उन्हें नौकरी से निकाला जा रहा था। उनकी कम्पनी ने तय किया कि आईटी विकास को भारत में किया जाये, और इनका कांट्रेक्ट भी खत्म हो गया।

हमने दो वर्ष आठ माह पहले यूएस में घर ख़रीदा था और हमें बंधक का पैसा भी देना था और भाग्य से मेरे पास नौकरी थी जिससे खर्च चल जाता। जब मेरे पति का कांट्रेक्ट खत्म हुआ तो उन्हें घर में बैठना पड़ा और वे बहुत तनाव में थे क्योंकि वे पिछले दस सालों से उस कंपनी में थे जिससे उन्हें निकाला गया था। घर पर बैठना उनके लिए बहुत कठिन था जबकि खर्च चलाने के लिए मेरी नौकरी का सहारा भी था। मैं इनकी नौकरी के लिए साईं बाबा से प्रार्थना कर रही थी।

पहले दो सप्ताह में उन्हें कोई इंटरव्यू कॉल नहीं आया और इन्होने आशा छोड़ दी क्योंकि यूएस में आर्थिक स्थिति बहुत खराब चल रही थी। जहाँ हम रहते हैं वहाँ कई कंपनियां लोगों को निकाल रही थीं। लेकिन तीसरे सप्ताह में इन्हें एक कंपनी से ऊँचे पद के लिए इंटरव्यू कॉल आया। इनका इंटरव्यू हुआ और चयन करने वाले व्यक्ति ने कॉल किया और कहा कि ये आवेदकों में से टॉप दो लोगों में हैं जिनका इंटरव्यू हुआ है और उनकी क्षमता के आधार पर चयन होगा। लेकिन कंपनी से कोई खबर नहीं आई और उसी कंपनी से एक और कॉल आया फुल टाइम काम के लिए। उस पद के लिए भी इनका इंटरव्यू हुआ। इंटरव्यू के दो-तीन सप्ताह बाद भी कंपनी से कोई खबर नहीं आई और हम लोग निराश हो रहे थे। फिर भी मुझे साईं बाबा पर पक्का भरोसा था कि वे हमारी मदद ज़रूर करेंगे।

भाग्य से पाँचवें सप्ताह में एक कंपनी से कॉल आया जिसमें मेरे पति के मित्र ने इनका बायोडाटा भेजा था। इनका इंटरव्यू हुआ और उसी दिन उन्होंने निर्णय भी दे दिया और छह माह के लिए कांट्रेक्ट की तिथी भी दे दी। हम लोग बहुत खुश हुए, फिर भी हम उस कंपनी से कॉल का इंतज़ार कर रहे थे क्योंकि उसमें फुल टाइम काम था और कंपनी काफी नामी थी। इस छह माह के कांट्रेक्ट मिलने के बाद भी इनका दो और इंटरव्यू हुआ। मैं साईं बाबा से प्रार्थना कर रही थी कि वे तय करें कि इनके लिए सबसे अच्छी नौकरी कौन सी है। उसके बाद इन्होने छह माह के कांट्रेक्ट वाली नौकरी ले ली।

लेकिन देखिये बाबा का चमत्कार, इन्हें दो और नौकरियां भी मिलीं। मैं दुविधा में थी कि इनको दो दिन रुक जाना था क्योंकि एक फुल टाइम काम था और दूसरा आगे चलकर फुल टाइम काम हो सकता था। लेकिन मैंने यह भी सोचा कि साईं बाबा ही सही निर्णय दे सकते हैं और जो काम इन्होने लिया वह बाबा की ही इच्छा थी। कुछ सप्ताह बाद हमें अपने मित्रों से पता चला कि वे दोनों नौकरी जो इन्हें मिली थीं, उनमें से एक का प्रोजेक्ट धन के अभाव से रुक गया और दूसरे का पद रोक दिया गया क्योंकि उस कंपनी से कुछ और लोगों को निकाला गया है। यह वाकई अच्छा निर्णय था कि कांट्रेक्ट वाली नौकरी ले ली। साईं बाबा की कृपा अपने बच्चों पर हमेशा होती है। हमारे मित्र के जरिये नौकरी दिलाने के लिए बाबा आपको बहुत बहुत धन्यवाद। उस मित्र को भी धन्यवाद। आप हमारे साथ हमेशा हो!!!!! यदि मैंने कुछ गलत लिखा हो तो बाबा मुझे माफ करना।

© Sai Teri LeelaMember of SaiYugNetwork.com

Share your love
Default image
Hetal Patil Rawat
Articles: 113

Leave a Reply