Thursday, July 26, 2018

जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना

SaiYugNetwork.com आपको एक और आध्यात्मिक वेंचर "जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना" से परिचित करना चाहता है। भगवान साईं बाबा को निःस्वार्थ रूप से सहायक होने के लिए एक अनोखी अवधारणा को आप सब के समक्ष पेश करते हुए हमे बेहद ख़ुशी हो रही है। आईये इस वेंचर को पूरी तरह से जाने और उसमे सम्मिलित होने की प्रक्रिया देखे। 
Shirdi Sai Baba Miracles Leela Blessings Sai Nav Guruwar Vrat Miralces in Hindi | http://hindiblog.saiyugnetwork.com
Lesson For Life - The Universal Prayer से अनुवाद
"प्रार्थना करना बंद मत करो मैं तुम्हारे लिए काम कर रहा हूं" साईं चित्र संदेशों में से ये एक था जिसे मैंने एक बार पढ़ा था और यह मैं थोड़ी देर इस पर सोचने लगी। मैंने सोचा कि बाबा हमारे काम करने के लिए क्या क्या कर रहे हैं? हमारे कर्मों की तीव्रता को कम करने या हमारे पापों को जलाने के लिए क्या उन्हें हमारी ओर से कोई ध्यान या नाम जाप या कुछ और करना चाहिए ?
Shirdi Sai Baba Miracles Leela Blessings Sai Nav Guruwar Vrat Miralces in Hindi | http://hindiblog.saiyugnetwork.com
मुझे पता है कि मैं बहुत मूर्खतापूर्ण बात कर रही हूं लेकिन मैं किसी भी तरह बाबा की मदद करने के लिए कुछ जानना या करना चाहती थी, जो हमेशा अपने हर भक्तों की मदद करने के लिए उत्तरदायी और उत्सुक होते है! भगवन साईं बाबा के अलावा कोई भी अपने सभी बच्चों के लिए उनके प्यार और देखभाल के बराबर नहीं हो सकता है जिसके लिए यह ब्रह्मांड घर और सृष्टि उनके बच्चों के रूप में है। मुझे पता है कि हम भगवान द्वारा बनाई गई इस विशाल ब्रह्मांड में एक छोटा सा बिंदु भी नहीं हैं और यह सर्वशक्तिमान की मदद करने के बारे में सोचने के लिए मेरी सोच बहुत ही तुच्छ और हाशिप्राद है। लेकिन मेरा विश्वास करो कि मैं बाबा के लिए कुछ करने के लिए बेताब थी या यह बाबा ही थे जो जीवन का सबक को एक फ्लैश के साथ उन विचारों को प्रेरणा दे रहे थे - सार्वभौमिक प्रार्थना, मुझे अभी भी समझ में नहीं आता कि शब्दों को कैसे आपके सामने पेश करू।

जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना यह छह शब्दों को हाइफ़न के साथ काफी समय से से मेरी आंखों के सामने रहे है, लेकिन फिर भी मैंने उन्हें हमेशा अनदेखा किया है ताकि बाबा द्वारा प्रेरित अन्य आध्यात्मिक उद्यमों को प्राथमिकता दे सकू और ये जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना वेंचर को मैंने अवास्तविक या विसंगत समझा क्योंकि बाबा की मदद करने के बारे में हम कैसे सोच सकते है जब वह स्वयं ही भगवान है। अब जब सभी चीजें जो मेरे दिमाग में थीं (महापारायण, 365 दिन पारायण, विष्णु सहस्त्रनामावली पारायण, पवन मंजारी पारायण, अनंत अखण्ड साईं महाजाप, ब्रह्मा मुहूर्त पारायण, हनुमान चालिसा - सबसे लंबा गारलैंड और ध्यान समूह) और उन्हें आसानी से निष्पादन शुरू कर दिया है, मेरा ध्यान फिर से जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना के लिए तैयार हो रहा था। शुरुआत में ही मैंने खुद को भगवान की मदद करने के विचार के बारे में बहुत मूर्ख महसूस किया था, लेकिन तुरंत मुझे रामायण से गिलहरी की कहानी याद आई। फिर भी मैंने उपरोक्त वर्णित विभिन्न आध्यात्मिक उद्यमों के साथ बाबा की सेवा करने के विचारों को अनदेखा कर दिया क्योंकि यह कुछ अलग ढंग और स्वभाव का था।

जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना - क्या है?

जैसा कि मैंने बताया है कि उस तस्वीर ने मुझे बाबा की मदद करने के बारे में सोचने पर मजबूर किया था पर क्या ऐसा सोचना तार्किक था? जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना बाबा की मदद करने का एक छोटा सा प्रयास है क्योंकि उनके अनगिनत बच्चे हैं जिनके लिए उन्हें लगातार कई काम करने पड़ते है। इसीलिए हम बाबा की मदद करने का छोटा सा प्रयास करेंगे और यह बाबा की इच्छा पर निर्भर करता है की उस दिन के लिए उन प्रार्थनाओ का उपयोग कैसे होगा। मुझे पता है कि भगवान की मदद करने के बारे में सोचने के लिए मूर्ख या मजाकिया लग सकता है और हमें कभी भी यह नहीं जान पाएंगे कि हमारी प्रार्थनाओं का उपयोग बाबा किसके लिए और कहां कर रहे है जब तक बाबा स्वयं हमें नहीं बताते! यहां हर भक्त साईं सच्चरित्र से एक अध्याय का चयन करेगा, जिसे वह रोजाना आजीवन बाबा के लिए पढ़ेगा और खुद या अपने ज्ञात लोगों के लिए बदले में कुछ भी उम्मीद नहीं करेगा। जैसा कि दुनिया में हर पल किसी को प्रार्थना या बाबा की मदद की बेहद ज़रूरत होती है, हम बाबा से अनुरोध करेंगे कि, "बाबा मैं चाहता/चाहित हूं कि आप मेरे इस अध्याय के पठन किसी ऐसे व्यक्ति के लिए प्रार्थना के रूप में मानें जिसे किसी भी तरह से उसकी जरुरत हो। केवल आप ही जानते है की किसके लिए क्या उचित है, यद्यपि भगवान, के पास अपने अनगिनत बच्चों की मदद करने के लिए हजारों हाथ हैं, फिर भी उन्हें कुछ तो करना ही पड़ता है ऐसा वह भी कहते है। तो इससे क्या बेहतर हो सकता है कि हम प्रार्थना के रूप में सच्चरित्र से एक अध्याय पढ़े जो भगवान के लिए किसी भी रूप में प्रयोग आ सकता हो? तो जो भी अध्याय हम चुनते हैं वह आजीवन हमारा सबक होगा और बिना किसी असफलता के इसे रोज़ाना पढ़ना होगा, ब्रह्मांड के किसी भी व्यक्ति जो स्वास्थ्य, गर्भावस्था, नौकरी, परिवार, शिक्षा, धन या बाबा के बच्चों/प्राणियों की किसी भी इच्छा या आवश्यकताओं के लिए प्रार्थना होगी! मुझे यकीन है कि प्यार के साथ पेश की गई कोई भी सेवा निश्चित रूप से स्वीकार की जाती है और यह गिलहरी की कहानी से बहुत संबंधित हो सकती है। (संदर्भ - कहानी का पूरा संस्करण पढ़ें) जिसने रामायण में लंका में दस योजना लंबे पुल के निर्माण में राम की मदद की थी। गिलहरी समुद्र के पानी में कूद जाती थी, उसके शरीर को गीला करती, रेत पर रेंगती, उसके मुंह में कुछ कंकड़ ले जाती और फिर पुल पर रेत और कंकड़ डालती। यद्यपि यहां शामिल हजारों वानरों को बीच में आने के लिए छोटे गिलहरी को डांटा गया था, लेकिन राम ने उसके प्यार और भक्ति को देखकर उसके प्रयासों की सराहना की, जिससे पुल में कई छेद लगाने में मदद मिली जो वानरों द्वारा विशाल पत्थरों के साथ भी संभव नहीं हो सकता। तब भगवन राम ने स्नेह से गिलहरी के पीठ पे अपनी उंगलिया घुमाई और तब से, ऐसा माना जाता है कि गिलहरी के शरीर पर तीन रेखाएं होती हैं।
Shirdi Sai Baba Miracles Leela Blessings Sai Nav Guruwar Vrat Miralces in Hindi | http://hindiblog.saiyugnetwork.com
अब जब गुरु पौर्णिमा आ रही थी, मैं बाबा को जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना की इस अवधारणा के साथ आगे बढ़ने के लिए कुछ संकेत देने के लिए विनती करने लगी। उन्होंने कई सारे सिग्नल दिए लेकिन वास्तव में जिस तरह से मैं सपने में महापारायण आदि जैसे सीधे आदेशों की चाह में रख रही थी। जब मैं कृतिजी से इस संदर्भ में लोगो (logo) और कुछ क्रिएटिव बनाने के बारे में चर्चा करने लगी तो कुछ अद्भुत लीलाए होने लगी जो स्पष्ट रूप से बाबा के संकेत थे। एक असामान्य घटना बार बार होने लगी, मुझे गिलहरी दिखती थी जब भी मैं इस वेंचर पर कृति जी से बात करती। वह भी ये सुनकर बहुत खुश थी और इसके लिए आगामी क्रिएटिव में इसका इस्तेमाल करने का फैसला भी किया। जब मैंने हेतल जी के साथ ये सब साझा किया तो उन्हें भी पसंद आया लेकिन उन्हें इसके बारे में पता नहीं था। तब तो मुझे संदेह होना शुरू हुआ कि क्या ऐसी कहानी वास्तव में मौजूद है या यह सिर्फ मेरी कल्पना थी? मैंने भी रामायण को कई बार पढ़ा है लेकिन इसमें इस कहानी का कोई सन्दर्भ नहीं मिला। मैंने मानव दिमाग पर संदेह करते हुए, इस विषय पर गूगल किया, तब मुझे यह पता चला कि ऐसी कहानी मौजूद है और जैसे की मैंने अपने पाठशाला काल में पढ़ा था, ये हूबहू वही कहानी है जो बरसो बाद बाबा ने इस तरह याद दिलाई है। मुझे अभी भी पता नहीं है और यह सुनिश्चित नहीं कर पा रही कि मुझे किसने कहानी सुनाई और इसकी प्रासंगिकता ऐसे हो सकती है। इससे फिर यही साबित हुआ के केवल बाबा ही इन सब कुछ के पीछे है और हम केवल उनके चुने हुए भाग्यशाली छोटे यंत्र हैं। इस संदर्भ में और भी कई सुन्दर लीलाए है पर समय के अभाव के कारण मैं उन्हें यहाँ नहीं लिख रही हु और आने वाले पोस्ट में उन सब के बारे में लिखना चाहूंगी के कैसे ये वेंचर अस्तित्व में आया। मुझे यकीन है के बाबा इसमें हमारी मदद ज़रूर करेंगे।

जीवन का सबक - सार्वभौमिक प्रार्थना की एक और सुंदरता यह है कि प्रत्येक अध्याय के लिए अलग व्हाट्सएप समूह बनाया जाएगा और प्रत्येक समूह के आने वाले समय के दौरान 108 सदस्य होंगे क्योंकि हम इस गुरु पौर्णिमा २७ जुलाई २०१८ से ही इसकी शुरुआत करेंगे। एक बार जब सभी समूह पूर्ण हो जाएंगे; पूरे साईं सच्चरित्र के प्रतिदिन १०८ परायण बाबा को समर्पित किये जाएंगे जब की महापाारायन में यह एक वर्ष के अंत में होता है। लेकिन यहाँ सार्वभौमिक प्रार्थना के अंतर्गत हमारा पठन बाबा को अपने भक्तों/प्राणियों के कार्य करने के लिए मदद मिलेगी जिन्हें हम भी नहीं जानते हैं। यह कृत्य बाबा के लिए १०० प्रतिशत निःस्वार्थ भाव से शुन्य उम्मीद से किया जाएगा। हम कभी भी यह नहीं जान पाएंगे कि किसके लिए हमारी प्रार्थनाओं का उपयोग किया गया था। बाबा स्वयं ही अपने बच्चों को चुनेंगे और मार्गदर्शन भी करेंगे। हम यह भी प्रार्थना करेंगे कि हम किसी भी तरह का फल बदले में नहीं चाहते हैं।
ब्रह्मांड का कानून कहता है: आप जो भी देते हैं उसे वापस पाते है वो भी कई गुना !!!
अगर हम सेब के कुछ बीज लगाते हैं तो हमें बोने की तुलना में कई पेड़, कई सेब और कई और बीज मिलते हैं। इसी प्रकार से यदि आप अच्छा करते हैं तो यह अच्छा कर्म किसी दिन किसी प्रकार से आपको कई गुना अधिक प्राप्त होगा और यदि बुरा कर्म किया तो वह बुरा कर्म भी कई गुणा बढ़ कर वापस आएगा और यह सुनिश्चित भी करेगा कि वह अपने सही पते तक पहुंच जाए।
हम नहीं जानते कि किस दिन हमें या हमारे प्रियजनों को प्रार्थनाओं की बेहद आवश्यकता होगी, उस समय ये प्रार्थनाएं भी हमारे पास लौट कर आ सकती हैं।
मुझे पता है कि हम सभी को पहले से ही कई अन्य प्रतिबद्धताओं का सामना करना पड़ रहा है, जिन्हें नामांकन या समर्पित पढ़ने के बारे में सोचना मुश्किल हो सकता है। लेकिन मेरा विश्वास करो कि मैंने स्वयं को दो-तीन महीने पहले से बाबा के लिए अध्याय ३६ पढ़ना शुरू कर दिया है और अब मुझे शायद ६ से ७ मिनट लगते हैं। ऐसा नहीं है कि हमारे पास हर रोज बर्बाद करने के लिए १० मिनट नहीं हैं तो अच्छे कर्मों में निवेश क्यों न करें?
जब हम रोशनी फ़ैलाने का प्रयास करते है तब हमारे जीवन का अँधेरा अपने आप गायब होने लगता है।
गिलहरी इतना छोटा जानवर है। वह एक सागर के ऊपर पूल बांधने जैसे कठिन नियोग में मददगार नहीं हो सकती थी, पर वो हुई क्यूंकि उसने अपने मन, मस्तिष्ट और आत्मा से यह स्वीकारा की वह ये कर सकती है और उससे जो भी बन पड़ा उसने किया भी। परीणाम के संदर्भ में यह महत्वहीन है, लेकिन भक्ति और समर्पण के संदर्भ में, एक अद्वितीय उदाहरण है। भगवन राम ने गिलहरी की सेवाओं को पहचाना और उसकी प्रजाति को आशीर्वाद दिया! यह हमें बताता है कि भगवान को कोई सेवा छोटी या महत्वहीन नहीं है। जब भक्ति की बात आती है तो आकार और शक्ति वास्तव में कोई महत्व नहीं रखते और सर्वशक्तिमान की मदद करने के लिए तत्पर हैं! जैसे उस गिलहरी ने श्री राम को मदद करने की कोशिश की हम भी बाबा को तहे दिल से मदद कर सकते है।

रामायण में, एक छोटे गिलहरी ने भगवान श्री राम को लंका के पुल का निर्माण करने में मदद की। अपने भक्त की सेवा को देखते हुए, श्री राम ने स्नेही रूप से उसकी पीठ थपथपाई। हम में से कितने भाग्यशाली होंगे कि स्वयं भगवान स्नेही रूप से हमे छूए?
Shirdi Sai Baba Miracles Leela Blessings Sai Nav Guruwar Vrat Miralces in Hindi | http://hindiblog.saiyugnetwork.com
तो आइए हम अपने साईं राम के गिलहरी बनने का प्रयास करें और अपनी पीठ पर उनका प्यार भरा स्पर्श महसूस करे !!!

पूछे जाने वाले प्रश्न:

  • हमारे पास अलग-अलग अध्यायों के लिए ४८ लिंक हैं और उन लोगों के लिए भी एक समूह है जो एक विशेष अध्याय समूह को स्वयंसेवी करने की ज़िम्मेदारी लेना चाहते हैं। अपने पसंदीदा अध्याय के स्थायी लिंक समूह पर क्लिक करें और नामांकन करें। आप जल्द ही मुख्य समूह में ऐड कर दिए जाएंगे। हमें प्रत्येक अध्याय समूह के लिए १ शिक्षक और १०८ भक्तों की आवश्यकता है। तो कृपया इसे करने के लिए आगे आएं!
  • कृपया याद रखें कि सभी केवल अध्याय ११ या अध्याय १५ का चयन न करें. कोई भी अध्याय चुनें जो आपको सबसे अधिक पसंद हैं या जो आपके दिल के करीब हो।आप साईं सच्चरित्र को यादृच्छिक रूप से खोल सकते हैं और उस अध्याय का चयन कर सकते हैं जिसे बाबा ने आपको निर्देशित किया हो। हमें सभी समूहों को भरने की आवश्यकता है ताकि धीरे-धीरे १०८ परायणो की पेशकश की जा सके और यह तब भी ही संभव होगा जब सभी अध्याय समूह भर जाएंगे।
  • कृपया ध्यान दें कि हर रोज एक ही अध्याय को पढ़ना होगा और समूह में नाम, रोल नंबर और अध्याय के अनुसार आईएसटी के अनुसार पढ़ना होगा। स्वयंसेवक आपकी पेशकश की गिनती करेगा और अगली दिन 12.00 आधी रात आईएसटी से पहले प्राप्त होने पर इसे और रिपोर्ट करेगा। तो रिपोर्टिंग के लिए सभी की 24 घंटे की समय अवधी होगी।

    जैसे: Baba Please Accept Our Lesson For Life As The Universal Prayer
    Name: Pooja Garg
    Roll no: L-1
    Ch-36
  • यह जीवन काल पढ़ना है जैसे ही इस वेंचर का नाम ही संकेत करता हे की हम इस सृष्टि में किसी भी जीव या इंसान के लिए ये पढ़ेंगे जो हमे भी नहीं मालूम कौन और कहा है।
  • यह 27 जुलाई (आईएसटी) गुरु पूर्णिमा से शुरू होगा।
  • आप हमारे ब्लॉग पर उपलब्ध अध्याय के ऑडियो भी सुन सकते हैं।
  • अगर किसी दिन आप पढ़ने में सक्षम नहीं हैं, तो आप अपने मित्र या परिवार के सदस्य से आपकी ओर से पढ़ने के लिए कह सकते हैं। लेकिन कृपया इसे अपने व्यक्तिगत स्तर पर प्रबंधित करें और कृपया समूह में न पूछें
  • साईं सच्चरित्र के कुछ भाषाओं (गुजराती, कन्नड़ और मराठी) में 53 अध्याय हैं। हम उन अध्यायों को हिंदी या अंग्रेजी साईं सच्चरित्र के अनुसार 1 से 51 के रूप में संदर्भित करेंगे। आप कथा का चयन या मिलान कर सकते हैं और तदनुसार पढ़ सकते हैं।
  • आप में से कुछ पहले से ही प्रार्थना समूह का हिस्सा हैं, जहां व्यवस्थापक चाहे तो उसे ही किसी विशेष अध्याय को समूह में परिवर्तित कर सकते हैं और इस प्रकार सार्वभौमिक प्रार्थना का हिस्सा बन सकते है।
[line]

पंजीकरण के लिए Whats App समूह में शामिल होने के लिए लिंक

अध्याय संख्या व्हाट्सएप समूह लिंक
ये लिंक केवल मोबाइल संस्करण में काम करते हैं
LFL-TUP स्वयंसेवक https://chat.whatsapp.com/41W1mCEYFEZLyfcbaQiie7
अध्याय १ https://chat.whatsapp.com/6bh18tSm6la09CyjaDNqNL
अध्याय २ https://chat.whatsapp.com/36TYpkGeoGoHGv0mfbgPhL
अध्याय ३ https://chat.whatsapp.com/9SJMhdD0bFcCBHmcbPJgr7
अध्याय ४ https://chat.whatsapp.com/1pMydnXBKBhEr22Iyo788E
अध्याय ५ https://chat.whatsapp.com/0UzWuuQZ8uZFNEzBgvu5Ln
अध्याय ६ https://chat.whatsapp.com/80uflnt8YgLLKMk0M79UCv
अध्याय ७ https://chat.whatsapp.com/2AQxE82SZ0i0orKOerNMAy
अध्याय ८ https://chat.whatsapp.com/8veOQGXKzdO3Wn2rBHxPAd
अध्याय ९ https://chat.whatsapp.com/4SiSUHV0IqjBStgOY25nQk
अध्याय १० https://chat.whatsapp.com/1apKXXGHi74Irbsp0VepaK
अध्याय ११ https://chat.whatsapp.com/1jHHxOYiP0O5xF9vewuEva
अध्याय १२ https://chat.whatsapp.com/296bgiKOo3a1fxPS9uuYnd
अध्याय १३ https://chat.whatsapp.com/8DAjppZEbYbJViBvM7ZOk5
अध्याय १४ https://chat.whatsapp.com/87HD7lgSKYY4VkfWjoRXHM
अध्याय १५ https://chat.whatsapp.com/0L9ka1RPZ4sITUdCzrfZUM
अध्याय १६-१७ https://chat.whatsapp.com/5WYcR2pxBoSJoMvh24ZJfQ
अध्याय १८-१९ https://chat.whatsapp.com/8jaOqRHUw8z7H8973ZGp79
अध्याय २० https://chat.whatsapp.com/3pvlLLauqghHJxIn0rd81N
अध्याय २१ https://chat.whatsapp.com/61Bg2sxadT58kDm4g1eZ3y
अध्याय २२ https://chat.whatsapp.com/1p6Gfv5JwRCHiJC92hQE62
अध्याय २३ https://chat.whatsapp.com/6iuFoLrPaDM7WjHgyy8RgD
अध्याय २४ https://chat.whatsapp.com/88vkJpLWepFGLK1DtpVvnA
अध्याय २५ https://chat.whatsapp.com/5YrWnTT7k8v3oLsyelyn6N
अध्याय २६ https://chat.whatsapp.com/4rkKWM65yYpLkJqzs0UIcw
अध्याय २७ https://chat.whatsapp.com/0pJR4vKLMgjFxvC5xz0C3K
अध्याय २८ https://chat.whatsapp.com/5k9zB8xlRVuKXdPXKaa56w
अध्याय २९ https://chat.whatsapp.com/1baEsvfmmTt0AJZrc63BY7
अध्याय ३० https://chat.whatsapp.com/9mgrEh3So1hFFVfeDOeYPp
अध्याय ३१ https://chat.whatsapp.com/9NH32TN2I3ZHQkpOZo0aZn
अध्याय ३२ https://chat.whatsapp.com/3YyFGvSaVbG3ERdBenLgvN
अध्याय ३३ https://chat.whatsapp.com/3hXx3v4YFTGCUJPAZroCMl
अध्याय ३४ https://chat.whatsapp.com/9mF6SW1jsuzG4hrZ47C4FX
अध्याय ३५ https://chat.whatsapp.com/8lnc6o8kg3EL0P2P0r4MSQ
अध्याय ३६ https://chat.whatsapp.com/1P2VGJhRWw1JKWI8UKWhQt
अध्याय ३७ https://chat.whatsapp.com/0TWOBgLD9urFct58pcaTHW
अध्याय ३८ https://chat.whatsapp.com/6jQs6ND8D3B8cNuL4Uoe8e
अध्याय ३९ https://chat.whatsapp.com/3jRrcxFsQyO8yXmKWGpRYu
अध्याय ४० https://chat.whatsapp.com/1P0oyMAN78H6akNnseU3Xm
अध्याय ४१ https://chat.whatsapp.com/5bn1LkWYDCI6OM71s0oWA9
अध्याय ४२ https://chat.whatsapp.com/26AHlDeaZ88F5KFXMS3H21
अध्याय ४३-४४ https://chat.whatsapp.com/9OGMOPasbQEL5783RIy13k
अध्याय ४५ https://chat.whatsapp.com/3yOdRak1yn6BKyglOgYCzn
अध्याय ४६ https://chat.whatsapp.com/4VHQbIMvr0qGKPvDymRi9C
अध्याय ४७ https://chat.whatsapp.com/91tvdI8xEvn1ubgKozkzQV
अध्याय ४८ https://chat.whatsapp.com/0P04lgQY7lA2eXXCeFLb3b
अध्याय ४९ https://chat.whatsapp.com/0Jk6cGDSPs2K1u4gUV6pAr
अध्याय ५० https://chat.whatsapp.com/84GWVWpTSUPFMd4nZYJxeD
अध्याय ५१ https://chat.whatsapp.com/8bKJaYwV6xv0q0prmtJhzP
तो आइए हम अपने साईं राम के गिलहरी बनने का प्रयास करें और अपनी पीठ पर उनका प्यार भरा स्पर्श अपनी पीठ पर महसूस करे !!!
जय जय साई राम
[line]

इस कहानी का ऑडियो सुनें


[line] Translated and Narrated By Rinki Transliterated By Supriya


© Sai Teri Leela - Member of SaiYugNetwork.com

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only