Shirdi Sai The Saviour

[Shirdi Sai - Saviour of all][bsummary]

Shirdi Sai - The Great Healer

[Shirdi Sai - The Great Healer][bigposts]

Character Sketch Of Devotees

[Character Sketch Of Devotees][twocolumns]

साईं भक्त जलपा: बाबा ने दिलवाई नौकरी

Advertisements
Hindi Blog - Sai Baba Answers | Shirdi Sai Baba Grace Blessings | Shirdi Sai Baba Miracles Leela | Sai Baba's Help | Real Experiences of Shirdi Sai Baba | Sai Baba Quotes | Sai Baba Pictures | http://www.shirdisaibabaexperiences.org

Sai Baba's Help In Getting Job - Experience of Jalpa से अनुवाद

कई दिनों से मेरे मेल बॉक्स में साईं भक्त अपने अनुभव भेज रहे थे। आज मुझे एक अनुभव याद आ रहा है जो कि मुझे मेरे एक पारिवारिक मित्र के मित्र ने भेजा था जिसकी शिर्डी साईं बाबा ने नौकरी दिलाने में मदद की थी।

यह भक्त ने अपना कालेज पूरा किया था और वह नौकरी की तलाश में थी। उसकी बहुत इच्छा थी कि आगे पढाई करे लेकिन आर्थिक परेशानी के चलते उसने नौकरी करने का निर्णय किया। वह पढाई में काफी तेज़ थी और उसे विश्वास था कि जल्दी ही एक अच्छी नौकरी मिल जाएगी। परन्तु एक साल तक कई इंटरवियु देने के बावजूद उसे कोई नौकरी नहीं मिली। वह शिर्डी साईं बाबा की सच्ची भक्त थी। उसे पूरा विश्वास भी था कि बाबा हमेशा अच्छा ही करेंगे। लेकिन पिछले एक साल से कई इंटरवियु के बावजूद जब कोई प्रगति नहीं दिखी तो उसे लगा कि सारी उम्मीदें ख़त्म हो गई हैं। उसने यह तय किया कि वह अब कोई भी नौकरी के लिए इंटरवियु नहीं देगी।

दो माह पहले, उसने एक कंपनी का विज्ञापन उम्मीदवारों के लिए देखा। कंपनी अच्छी थी और उसकी माँ और बहन ने उसे इंटरवियु में जाने के लिए काफी जोर दिया। लेकिन उसकी जाने की बिलकुल भी इच्छा नहीं थी क्योंकि वह खाली हाथ नहीं लौटना चाहती थी। उसने अपनी अलमारी खोली तो उसकी नज़र शिर्डी साईं बाबा की फोटो पर गई। उसने मानसिक तौर पर शिर्डी साईं बाबा से कहा कि यदि आपकी हाँ है तो ही मै इंटरवियु देने जाऊँगी। उसने दो चिट बनाई, एक पर "हाँ" लिखा और दूसरी पर "नहीं" और शिर्डी साईं बाबा से पूछा। फिर दोनों चिट को खूब हिलाकर, एक चिट उठाई तो उसमें उसे शिर्डी साईं बाबा की ओर से सकरात्मक उत्तर मिला। तब उसने शिर्डी साईं बाबा के निर्देशों का पालन करते हुए इंटरवियु दिया।

साक्षात्कार देकर जब वह घर लौट रही थी तो उसे प्रभारी अधिकारी का फ़ोन आया कि उसे चुन लिया गया है और उसे तुरंत ही ज्वाइन करना होगा। इसके अलावा, जो वेतन मान उसे दिया गया वह उसकी उम्मीद से बहुत ज्यादा था। शिर्डी साईं बाबा ने, इस प्रकार उसके विश्वास और धैर्य की परीक्षा ली और उसे सर्वोत्तम दिया। मैं उसके उज्ज्वल भविष्य की कामना करती हूँ।


© Sai Teri Leela - Member of SaiYugNetwork.com

1 comment:

  1. साईबाबा कि सेवा में समर्पित आपका यह प्रयास अतिउत्तम और सराहनीय हैं। जय साईनाथ।

    ReplyDelete