Friday, June 29, 2018

बाबा की कृपा से दोस्त को मिला सही जीवन साथी: सिमी

Devotee Experience - Simi से अनुवाद

जय साईं राम,

शिर्डी साईं बाबा को लेकर मुझे मेरे एक अनुभव को आप सभी के साथ बाँटना है, वह इस प्रकार है।

हमारे समर्थ सतगुरु को कोटि कोटि प्रणाम। काफी समय से मैं बाबा के द्वारा हमे प्राप्त हुए सुन्दर अनुभवों को लिखने के बारे में सोच रही थी कि बाबा किस प्रकार हमेशा हमारे साथ होते हैं, हमारी प्रार्थना सुनते है और हमारे लिए जो भी उचित है उसे पाने के लिए हमारी सहायता करते हैं। पिछले साल मई के महिने के मध्य में मेरे एक करीबी मित्र की सगाई हुई थी और उसकी शादी 23 जून को तय हुई थी। शादी की ज़रूरी तैयारीया जून के पहले सप्ताह तक हो गयी थी, फिर भी मेरे मित्र का मन इस शादी के लिए नहीं मान रहा था।

वह नियमित रूप से लड़की से मिल रहा था और हर बार मिलने के बाद उसे निश्चित रूप से पता चल गया कि यह विवाह केवल उन के लिए दुःख लाएगा। लेकिन मौखिक निमंत्रण सहित सभी व्यवस्थाएं पूरी हो चुकी थीं, वह विवाह के लिए ‘ना’ भी नहीं कह सकता था। वह बहुत परेशान था लेकिन शिरडी साईं बाबा पर उसे पूरा विश्वास था। कुछ गलतफहमी और अहंकार के कारण, लड़की की मां ने 10 जून के आसपास शादी तोड़ दी। हालांकि मेरे दोस्त को राहत मिली लेकिन उसके साथ उनकी प्रतिष्ठा भी दाव पर थी क्योंकि उनके ज्यादातर कार्यालय के सहयोगी, बॉस और अन्य दोस्तों ने 23 जून को शादी के लिए अपने टिकट बुक किए थे और हर किसी को यह कहना कि शादी अब नहीं होगी लगभग असंभव था।

इतने कम समय में किसी दूसरी लड़की के साथ शादी करना लगभग असंभव सपना था। उनके पास एक और लड़की का भी प्रस्ताव आया था, जिसे उसने पहले मना कर दिया था, अब वह और उसके परिवारवाले उस लड़की के परिवार को 23 तारीख को शादी करवाने के लिए समझाने लगे, लेकिन वे इतनी कम समय में विवाह के लिए सहमत नहीं हो रहे थे। उसी सप्ताह गुरुवार को, मैं और मेरा मित्र इस स्थिति से बाहर निकलने के बारे में चर्चा करते हुए साईं बाबा के मंदिर नोएडा सेक्शन 61 के पास से गुजर रहे थे, और हमने मंदिर के बाहर हमारी कार को रोक दिया और मैंने उसे आश्वासन दिया कि “देखना अगले हफ्ते तक बाबा तुम्हारी सभी समस्याओं का समाधान कर देंगे”।

और सच में एक अविश्वसनीय घटना हुई, उस लड़की के परिवार वाले मान गए और 23 जून को ही उनका विवाह हुआ। यह चमत्कार से कम कुछ नहीं था। इस साल 23 जून उनकी पहली शादी की सालगिरह थी और पिछला एक साल उनके जीवन का सबसे खुशहाल वर्ष रहा । उनकी पत्नी एक बोहत अच्छी इंसान है और पेहली लड़की की तुलना में कहीं ज्यादा बेहतर है जिसेके साथ पहले उनकी सगाई हुई थी। साई को बोहुत धन्यवाद् उन दोनों को जीवन साथी बनाने के लिए और प्रार्थना करती हु कि आप उन पर और उनके बच्चा जो नवंबर में होने वाल हैं उस पर अपना अनुग्रह बनाये रखें।

समर्थ सद्गुरु साईं महाराज की जय

धन्यवाद् ,

साई भक्त

इस कहानी का ऑडियो सुनें






Translated and Narrated By Rinki Transliterated By Supriya

© Sai Teri Leela - Member of SaiYugNetwork.com

Whatsapp Button works on Mobile Device only